गुड़ से मिल जाएगा बहुत सारा पैसा और शोहरत

आज खाने की चीजों को मीठा करने के लिए शकर का उपयोग किया जाता है लेकिन पुराने समय में गुड़ से खाने को मीठा किया जाता था। इसी वजह से भगवान को गुड़ से निर्मित चीजों का मीठा प्रसाद चढ़ाया जाता था। शास्त्रों के अनुसार सभी देवी-देवताओं को मीठा प्रसाद या भोग प्रिय बताया गया है।

ऐसा माना जाता है कि देवी-देवताओं को गुड़ चढ़ाने से वे जल्द ही प्रसन्न होते हैं और श्रद्धालु को सभी इच्छित वस्तुएं प्रदान करते हैं। हनुमानजी कलयुग में सबसे जल्दी प्रसन्न होने वाले देवता माने गए हैं। बजरंगबली अपने भक्तों बल, बुद्धि और विद्या प्रदान करते हैं जिससे वे सुख-समृद्धि की वस्तुएं अर्जित कर सकते हैं।

हनुमानजी को प्रसन्न करने के लिए उन्हें प्रतिदिन सुबह-सुबह गुड़ का भोग लगाना चाहिए। इसके साथ ही हनुमान चालिसा का पाठ करने के बाद ही कार्य प्रारंभ करना चाहिए। ऐसा करने पर बहुत ही कम दिनों में आपकी सभी परेशानियां स्वत: ही दूर हो जाती हैं और धन प्राप्ति के नए मार्ग खुल जाते हैं। इस उपाय के साथ ही यह भी ध्यान रखें कि किसी भी अधार्मिक से सदैव दूर रहें और घर के वृद्धजनों का सम्मान करें। अन्यथा यह उपाय अपना पूरा प्रभाव नहीं दे पाएगा।

पीली कौड़ी को जेब में रखों, आप हो जाओगे मालामाल

आज सभी चाहते हैं उनकी जेब हमेशा ही पैसों से भरी रहे और धन से जुड़ी समस्याएं उनसे दूर रहे। पैसा कमाने के लिए सभी अपने-अपने स्तर में खूब मेहनत करते हैं लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं उन्हें ज्यादा धन प्राप्त हो पाता है। ज्योतिष के अनुसार कुछ विशेष योग होते हैं जिनसे व्यक्ति को जीवन में कभी पैसों की कमी नहीं रहती।

यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में कोई ग्रह अशुभ प्रभाव देने वाला है तो उसकी आय पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। कुंडली में अशुभ ग्रह को ठीक करने के लिए सही उपचार करना चाहिए। इसके अतिरिक्त धन की देवी महालक्ष्मी की आराधना भी श्रेष्ठ फल प्रदान करती है। महालक्ष्मी की कृपा के बाद भक्त को कभी भी पैसों की कमी नहीं रहती है।

नियमित रूप से देवी लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा करनी चाहिए। इसके साथ ही एक अन्य उपाय अपनाएं। जिससे निश्चित ही कुछ दिनों में पैसों से जुड़ी समस्याएं समाप्त हो जाएंगी।

किसी भी शुभ मुहूर्त में बाजार से दो पीली कौड़ी लेकर आएं। यह किसी भी पूजन सामग्री की दुकान पर आसानी से मिल जाती है। घर आकर किसी विशेष दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठकर नित्य कर्म आदि करने के बाद महालक्ष्मी के पूजन की तैयारी करें। पूजन में देवी लक्ष्मी का चित्र या मूर्ति रखें। मूर्ति के साथ ही दोनों पीली कौडिय़ों को रखें। अब विधि-विधान से देवी लक्ष्मी की पूजा करें। पूजन के बाद दोनों पीली कौडिय़ों को अलग-अलग लाल कपड़े में बांधे। अब एक कौड़ी घर में वहां रखें जहां पैसा रखते हैं। दूसरी कौड़ी अपने साथ अपनी जेब में हमेशा रखें।ध्यान रहे कौड़ी साथ रखने के बाद अधार्मिक कार्यों से खुद को बचाकर रखें। अन्यथा यह उपाय निष्फल हो जाएगा।

Third party image reference

पैसों की बारिश के लिए अपनाएं ये उपाय

देशभर में कई स्थानों पर मानसून की पहली बारिश हो चुकी है। यह मौसम सभी का मन लुभाने वाला होता है, रिमझिम गिरती बूंदों में भीगना काफी लोगों को पसंद है। चारों ओर हरियाली का दृश्य आंखों को सुकून प्रदान करता है लेकिन बारिश के मौसम में कई लोगों का व्यवसाय काफी कम भी है। ऐसे में आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। धन संबंधी इन परेशानियों से निपटने के लिए ज्योतिष में कई अचूक उपाय बताए गए हैं। इन्हें अपनाने से आपके घर में पानी की बारिश के साथ धन की बारिश भी होगी।

– महालक्ष्मी की कृपा होने पर ही किसी भी व्यक्ति को धन प्राप्त हो सकता है इसलिए प्रतिदिन माता लक्ष्मी का विधिवत पूजन किया जाना चाहिए।

– दो गोमती चक्र लेकर आएं और एक चक्र को घर के मंदिर में तथा दूसरे चक्र को अपने पर्स में रखें। पर्स में चक्र को लाल रेशमी कपड़े में लपेटकर रखना चाहिए।

गोमती चक्र महालक्ष्मी का प्रतीक चिन्ह हैं। इसी वजह से इसे अपने पास रखने पर लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है।

– घर के मंदिर में दक्षिणावर्ती शंख रखें और नियमित रूप से इसका पूजन करें।

– बारिश में घर के आसपास गंदगी फैल जाती है और जहां गंदगी रहती है वहां महालक्ष्मी का निवास नहीं होता। अत: घर आसपास किसी भी प्रकार की गंदगी जमा न होने दे। व्यवस्थित साफ-सफाई करें। घर में भी कहीं गंदा पानी जमा न होने दें।

– यदि बारिश की वजह से घर के आसपास कहीं कचरा दुर्गंध फैला रहा है तो उसे साफ करवाएं।

– अपने पर्स में चावल के 21 दानें रखें। किसी भी शुभ मुहूर्त में महालक्ष्मी का शास्त्रोक्त पूजन करें, पूजन में चावल भी रखें जाते हैं इन्हीं में से 21 दानें निकालकर पर्स में रखें। चावल किसी लाल रेशमी कपड़े में बांधकर रखें।

– हर रोज शाम के बाद किसी शिव मंदिर में शिवलिंग के सामने दीपक जलाएं।