चाणक्य अपनी नीति, सूझबूझ और राजनीति में मजबूत पकड़ के लिए ही जाने जाते हैं। इन्होंने ही अपनी बुद्धि से एक मामूली बालक चंद्रगुप्त को भारतवर्ष का महान सम्राट बना दिया था। इनकी नीतियों को अपनाना काफी कठिन है पर जो भी ऐसा कर लेता है वह अपने जीवन में सफल हो जाता है। आज हम यहां चार ऐसी बातें बताने वाले हैं जो चाणक्य नीति के अनुसार पुरुषों को किसी को नहीं बताना चाहिए।

 

ये हैं वे चार आवश्यक बातें :-

सबसे पहली बात यह है कि आपको किसी को भी अपने धन की हानि के बारे में नहीं बताना चाहिए। भले ही आप की आर्थिक स्थिति सही नहीं चल रही हो पर इस बारे में दूसरों से बात नहीं करनी चाहिए। इसका असर यह होगा कि अगर दूसरों को आपकी बिगड़ी हुई आर्थिक स्थिति के बारे में पता होगा तो वे आपकी धन संबंधी कोई भी मदद नहीं करेंगे।

चाणक्य नीति के अनुसार अपने दुखों को किसी दूसरे लोगों के सामने कभी भी प्रकट नहीं करना चाहिए। क्योंकि समाज में ऐसे बहुत से लोग होते हैं जो दूसरे के दुख का मजाक उड़ा देते हैं और इससे आपका दुख कम होने के बजाए और अधिक बढ़ जाता है।

पुरुषों को अपनी पत्नी के चरित्र के बारे में दूसरों को नहीं बताना चाहिए। भले ही अभी आप दोनों में मनमुटाव चल रहा हो पर बाद में जब आप की परिस्थिति ठीक हो जाएगी तब आप खुद इस बात पर शर्मिंदा महसूस करेंगे।

अगर आपके जीवन में कभी भी किसी तुच्छ व्यक्ति ने आपका अपमान किया है इस बात को भी किसी और से नहीं कहना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से हमारी प्रतिष्ठा में कमी आ जाती है।

Close Menu