Monday , April 23 2018
Breaking News
Home / राजस्थान / अजमेर / दरगाह में रस्मों को लेकर चल रहे विवाद का हल निकाले नाजिम
Image result for ajmer dargah image

दरगाह में रस्मों को लेकर चल रहे विवाद का हल निकाले नाजिम

Image result for ajmer dargah image
अजमेर, सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह में रस्मों को लेकर चल रहे विवाद के हल के लिए मुस्लिम एकता मंच द्वारा नाजिम को पत्र लिखा गया है। मंच के द्वारा बताया गया कि दरगाह में प्रत्येक गुरुवार को होने वाली धार्मिक रस्म को लेकर विवाद की स्थिति उत्पन्न हो रही है।
दरगाह दीवान जैनुल आबेदीन अली खां द्वारा 12 अप्रैल को गुरुवार के दिन अपने स्थान पर अपने पुत्र नसीरुद्दीन चिश्ती को महफिल की सदारत करने के लिए भेज दिया गया। जिसके कारण दरगाह की परम्परा का निर्वहन नहीं हो सका। यह पहली बार हुआ कि दरगाह में गुरुवार की कदीमी महफिल का आयोजन नहीं हुआ। इससे दरगाह से अकीदत रखने वाले सभी लोगों की आस्था को ठेस पहुंची है। इन सभी विवादों का कारण दरगाह कमेटी के लचीले रूख का है। दरगाह कमेटी के नाजिम आई बी पीरजादा ने समय रहते दीवान के द्वारा दरगाह नियमों के विरूद्ध अपने पुत्र को उत्तराधिकारी घोषित करने के मामले में ठोस कार्यवाही नहीं की। इसी का नतीजा है कि दीवान अपने पुत्र को महफिलों की सदारत करने के लिए भेज रहे है। मंच ने ज्ञापन में चेतावनी दी कि यदि दरगाह कमेटी ने शीघ्र कोई कार्यवाही नहीं की तो खादिमों व मुसलमानों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। ज्ञापन देने वालों में शेखजादा जुल्फिकार चिश्ती, गद्दीनशीन सैयद फखर काजमी, पीर नफीस मिया चिश्ती, सैयद गुलाम मुस्तफा चिश्ती, सैयद बाबर चिश्ती, सैयद अमाद चिश्ती, अब्दुली नईम खान, शेख मोहम्मद कमर, हाजी सरवर सिद्दीकी, काजी मुनव्वर अली शामिल है।

About Sehar Mahesh

Check Also

गोष्ठी, प्रतियोगिताएं, योग प्रभात फेरी, मैराथन व सांस्कृतिक कार्यक्रम

अजमेर 22 अप्रैल। सम्राट पृथ्वीराज चौहान समारोह समिति की बैठक रसोई बैंक्वट हॉल स्वामी कॉम्पलेक्स …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 2 =