आरकॉम और उसकी सहयोगी कंपनियों के खिलाफ एरिक्सन की ओर से दायर याचिका को एनसीएलटी ने स्वीकार कर लिया है। इस याचिका को स्वीकार किए जाने के कुछ ही मिनटों बाद आर कॉम के शेयर्स 20 फीसद तक टूट गए। एनसीएलटी की ओर से याचिका को स्वीकार कर लिए जाने के बाद अब दिवालिया प्रक्रिया के तहत अनिल अंबानी की तीन दूरसंचार कंपनियां नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) के दायरे में आ सकती हैं।जानकारी के लिए आपको बता दें कि स्वीडन की कंपनी एरिक्सन ने आरकॉम के देश भर में स्थित नेटवर्क को ऑपरेट करने और उनका प्रबंधन के लिए 7 साल का करार किया था। आर कॉम के खिलाफ बकाए को लेकर एरिक्सन ने बीते साल 1,150 करोड़ रुपए के बकाए को लेकर सितंबर, 2017 में इनसॉल्वेंसी पिटीशन फाइल की थी।इस खबर का असर एडीएजी ग्रुप के अन्य शेयर्स पर भी देखने को मिला। रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग लिमिटेड के शेयर्स 6.96 फीसद की कमजोरी के साथ 12.70 के स्तर पर, रिलायंस निप्पॉन लाइफ एसेट मैनेजमेंट के शेयर्स 2.46 फीसद की कमजोरी के साथ 242 के स्तर पर, रिलायंस पावर के शेयर्स 0.45 फीसद की कमजोरी के साथ 33.35 के स्तर पर और रिलायंस कैपिटल 0.25 फीसद की कमजोरी के साथ 374.85 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुए हैं।बुधवार के कारोबार में रिलायंस कम्युनिकेशन्स लिमिटेड के शेयर्स 15.26 फीसद की कमजोरी के साथ 10.55 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुए है। इसका दिन का उच्चतम स्तर 11.95 और निम्नतम 9.95 का स्तर रहा है। वहीं, 52 हफ्तों का उच्चतम 41.77 का स्तर और निम्नतम 9.60 का स्तर रहा है।

Related Post

Close Menu