दुनिया में 2 आतंकी हमले: इंडोनेशिया में तीन चर्च में अटैक में 9 की मौत, फ्रांस में हमलावर ने चाकू से ली एक की जान, international news in hindi, world hindi news

इंडोनेशिया के पूर्व में स्थित जावा प्रांत के सुरबाया में रविवार सुबह आतंकियों ने तीन चर्च पर बम से हमले किए। इनमें 9 लोगों की मौत हो गई, जबकि 40 लोगों के घायल हुए हैं। पुलिस के मुताबिक, तीनों घटनाएं स्थानीय समय के हिसाब से सुबह करीब साढ़े सात बजे के आसपास हुईं। इस दौरान कई लोग संडे मास के लिए चर्च में इकट्ठा हुए थे।

एक के बाद एक सिलसिलेवार तरीके से हुए तीनों चर्च में ब्लास्ट
- पुलिस प्रवक्ता फ्रांस बारुंगा के मुताबिक, पहला हमला सुरबाया की सांता मारिया चर्च पर हुआ। यहां बम धमाके में 4 लोगों की मौत हो गई। इसके बाद जीकेआई डिपोनेगोरे चर्च पर धमाके में दो और लोगों की जान चली गई। एक घायल की इलाज के दौरान मौत हो गई। सुरबाया सेंट्रल पेंटाकोस्टल चर्च पर धमाके में भी एक व्यक्ति की मौत हो गई।
- पूर्वी जावा प्रांत के पुलिस प्रवक्ता कर्नल फ्रांस बारुंग मनगेरा ने बताया कि ये सभी हमले सुबह करीब 7 बजे हुए। कुल 38 लोग घायल हुए हैं। इन सभी हमलों को मोटरसाइकिल और कारों में बम रखकर अंजाम दिया गया।

जानकारी के मुताबिक, सांता मारिया पर हमले के दौरान एक आतंकी खुद ही बम की चपेट में आ गया। बताया जा रहा है कि इन हमलों में दो पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।
- सुरबाया के उपमहापौर विष्णु शक्ति बुआना ने बताया कि चौथा हमला कैथेड्रल चर्च पर भी हो सकता था लेकिन एक संदिग्ध की तुरंत गिरफ्तारी के साथ ही नाकाम कर दिया गया।
कुछ ही दिन पहले हुए थे दंगे
- इंडोनेशिया में कुछ ही दिन पहले दंगे हुए थे। एक डिटेंशन सेंटर में कुछ लोगों को बंधक भी बना लिया गया था। इस हिंसा में पांच लोगों की मौत हुई थी।
- इंडोनेशिया 2002 से आतंकवाद से जूझ रहा है। तब अलकायदा से जुड़े एक संगठन ने बाली में सिलसिलेवार बम धमाके किए थे। इनमें 202 लोगों की मौत हुई थी। इनमें 88 ऑस्ट्रेलियाई नागरिक थे।

फ्रांस में शनिवार रात हुआ हमला

फ्रांस में आईएस आतंकी ने एक के बाद एक लोगों को चाकू मारा
- फ्रांस की राजधानी पेरिस में शनिवार रात एक कथित आतंकी ने कुछ लोगों पर चाकू से हमला कर दिया। इस घटना में 1 शख्स की मौत हुई है, वहीं 4 लोग घायल बताए गए हैं। हालांकि, पुलिस ने मौके पर ही हमलावर को गोली मार दी। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, लोगों पर हमला करने वाले शख्स ने अल्लाह-हू-अकबर के नारे लगाए थे।

मैक्रों ने की घटना की निंदा
- फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने घटना पर गुस्सा जताते हुए ट्वीट भी किया। इसमें उन्होंने लिखा, “फ्रांस ने एक बार फिर खून से कीमत चुकाई है, लेकिन हम दुश्मनों को अपनी आजादी का एक इंच भी नहीं देंगे। इस घटना की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आईएस ने ली है। गौरतलब है कि घटना फ्रांस के समय के मुताबिक, रात करीब 9 बजे हुई। जिस जगह पर इसे अंजाम दिया गया वो अपनी नाइटलाइफ के लिए काफी प्रसिद्ध है।

Close Menu