नई दिल्ली: सभी मां-बाप चाहते हैं कि उनके बच्चे हमेशा आगे रहें. सभी परीक्षाओं में अव्वल आएं, खेल-कूद में मेडल जीतें. बच्चों को इस लेवल तक पहुंचाने के लिए उनके खाने-पीने का बहुत ज़्यादा ध्यान रखा जाता है. उन्हें सभी ज़रूरी विटामिन्स और प्रोटीन्स को सही मात्रा में दिया जाता है. तब जाकर बच्चों का दिमाग तेज़ और शरीर फुर्तिला होता है.

इस फायदे को जानने के बाद, रोज़ाना अपने बच्चे को खिलाएंगे FISH
जानिए बच्चों को Fish खिलाने से क्या होता है फायदा और क्या है नुकसान

अगर आप भी अपने बच्चों को इन लेवल तक लाना चाहते हैं तो उनकी डाइट में मछली शामिल करें. जी हां. हाल ही में हुई रिसर्च में यह पाया गया कि बच्चों के मछली नहीं खाने वाले या कभी-कभी खाने वाले बच्चों की तुलना में सप्ताह में एक बार मछली खाने वाले बच्चे अच्छी नींद लेते हैं और उनका आईक्यू औसत की तुलना में चार अंक ज्यादा होता है.

एलर्जी और अस्‍थमा से रखना है बच्‍चों को दूर तो उन्‍हें ख‍िलाएं बादाम, मछली और सोयाबीन

जिन बच्चों के भोजन में मछली कभी-कभी शामिल होती है उनमें यह स्कोर 3.3 अंक ज्यादा होता है. इसके अतिरिक्त ज्यादा मछली का सेवन कुछ नींद संबंधी दिक्कतों से जुड़ा है, जिसके बारे में शोधकर्ताओं का कहना है कि इससे बेहतर नींद आती है.

Close Menu