कछुआ लंबे जीवन को दर्शाता है और इस प्रकार इससे दीर्घायु की सिफारिश की जाती है। वास्तु शास्त्र और फेंग शुई दोनों में इसका बहुत महत्व है। अगर आप वास्तु शास्त्र और फेंगशुई में विश्वास करते हैं तो आप आसानी से अपने घरों में कछुए की मूर्ति लगा सकते हैं। कछुए को घर के साथ-साथ कार्यालय में भी रखा जा सकता है। कछुआ धातु, कांच, मिट्टी, क्रिस्टल या लकड़ी से बना हो सकता है।

कछुए से वांछित लाभ पाने के लिए कुछ वास्तु शास्त्र के नियमों का पालन किया जाना चाहिए:

  • धातु के कछुए को उत्तर या उत्तर पश्चिम दिशा में रखा जाना चाहिए।
  • मिट्टी से बने कछुए को पूर्वोत्तर या दक्षिण-पश्चिम में रखा जाना चाहिए है, इससे यह सर्वोत्तम परिणाम प्रदान करता है।
  • लकड़ी से बने हुए कछुए को पूर्व या दक्षिण-पूर्व में रखा जाना चाहिए।
  • यदि आप अपने घर को सद्भाव चाहते हैं तो अपने बेडरूम में कछुए को रखना सबसे अच्छा होता है।
  • कछुए को पानी में रखना सुनिश्चित करें, इससे आपके जीवन में शांति, सद्भाव, दीर्घायु और पैसा आता है।
Close Menu