राष्ट्रपति की दरगाह जियारत के दौरान दरगाह के धर्मगुरु जैनुवल आबेदिन ने राष्ट्रपति कोविंद को श्रीमद भगवत गीता की पुस्तक व ख्वाजा गरीब नवाज पर लिखी गयी पुस्तक भेट की ! दरगाह दीवान ने कहा की मेने धर्म के अनुसार उन्हें यह पुस्तक भेट की है ! इससे पहले भी पूर्व राष्ट्रपति शंकर दयाल को दरगाह जियारत के दौरान उन्हें भी भगवत गीता की पुस्तक भेट की गयी थी !

 
आबेदीन के अनुसार राष्ट्रपति ने जो मुराद मांगी वो उनके जहन में है और यह एक ऐसा दरबार है जहाँ से कोई भी खाली हाथ नही लौटता है ! इस दरबार से हमेशा भाईचारा व् शान्ति का पैगाम दिया जाता है ! दरगाह अंजुमन सैयद जादगान ने राष्ट्रपति के साथ देश में तरक्की के लिए दुआ की  जियारत के दौरान राष्ट्रपति कोविंद की पत्नी भी उनके साथ रही ! इससे पहले उन्होंने घुघरा हैलीपैड से पुष्कर सरोवर पर पूजा अर्चना की इसके बाद विश्व प्रसिद्द ब्रम्हा मंदिर के दर्शन करके सड़क मार्ग से ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह पर पहुंचे ! कोविंद जब दरगाह के मुख्य द्वार पर पहुंचे तो उनके स्वागत के लिए शादियाने बजाए गए ! दरगाह परिसर में लाल कारपेट लगाया गया और जियरात के समय दरगाह परिसर को खाली रखा गया ! 
Close Menu