पिछले कुछ दिनों से कई लोग और दुकानदार 5 रुपये का नया सिक्का लेने से इनकार कर रहे हैं. सिर्फ 5 का ही नहीं, बल्क‍ि एक रुपया का जो नया सिक्का है, उसे भी लोग लेने से मना कर रहे हैं.

लोग 5 रुपये के इस नये सिक्के को नकली करार देते हुए लेने से इनकार कर दे रहे हैं. कुछ लोगों का तर्क है कि दूसरे लोग नहीं लेते. इसलिए हम भी नहीं लेंगे.

क्या बंद हो गया है 5 रुपये का सिक्का? ऐसे में सवाल उठता है कि क्या 5 रुपये का नया सिक्का बंद हो गया है या फिर ये नकली है? इस सवाल का जवाब भारतीय रिजर्व बैंक इसी साल फरवरी में दे चुका है.

आरबीआई की तरफ से 15 फरवरी को बैंकों को जारी किए गए सर्कुलर में साफ कहा गया है कि 1,2,5 और 10 रुपये के सिक्के पूरी तरह मान्य हैं. इन्हें कोई भी शख्स अथवा बैंक स्वीकार करने से इनकार नहीं कर सकता.

इसके साथ ही आरबीआई ने यह भी कहा कि मार्च, 2009 के बाद जारी किए गए जितने भी सिक्के हैं, सब लीगल टेंडर हैं. इस दौरान आरबीआई ने लोगों की उलझन को दूर करने की कोश‍िश भी की.

भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा कि सिक्के लंबे समय तक चलते हैं. इसलिए ऐसा संभव है कि पिछले साल ही तैयार हुए सिक्के के साथ 10 साल पुराना स‍िक्का भी चलन में हो सकता है.

यही नही, भारतीय रिजर्व बैंक की वेबसाइट पर भी 5 रुपये के नये सिक्के दिखाए जा रहे हैं. दूसरी तरफ, आरबीआई की तरफ से फिलहाल कहीं ये नहीं कहा गया है कि ये सिक्के लीगल टेंडर नहीं हैं.

इसलिए आप 1 और 5 रुपये के नये सिक्के निश्चिंत होकर ले सकते हैं. इसके लिए आप अपने नजदीकी बैंक से भी जानकारी हासिल कर सकते हैं.

Close Menu