अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। नवाजुद्दीन सिद्दीकी बाला साहेब ठाकरे की भूमिका निभाने जा रहे हैं। इसी फिल्म की घोषणा के दौरान अमिताभ बच्चन मौजूद थे। उन्होंने बाला साहेब ठाकरे से जुड़ी अपनी यादों को शेयर करते हुए बताया कि उनके लिए बाला साहेब हमेशा परिवार की तरह थे।

जब अमिताभ की जान थी मुश्किल में तो एेसे बचाई थी बाला साहेब ठाकरे ने जान, बिग बी ने खोला राज़

अमिताभ ने इस दौरान कहा कि हमारे रिश्ते काफी घनिष्ठ थे। अमिताभ ने यह भी शेयर किया कि किस तरह उन्हें शिव सेना प्रमुख बाला साहेब ठाकरे ने उन दिनों में भी मदद की, जब वह परेशानी से जूझ रहे थे। उन्होंने बताया कि जब उनका परिवार बोफोर्स स्कैंडल में फंस गया था, उस वक़्त बाला साहेब ठाकरे ने ही उन्हें परेशानियों से निकाला था। अमिताभ ने बताया कि उन्होंने अमिताभ से पूछा था कि सच क्या है। पूरी बात बताएं। अमिताभ ने उन्हें कहा कि इसमें कोई भी सच्चाई नहीं है। उन्होंने फिर पूछा क्या अप सच कह रहे हैं, मैंने कहां हां। तो उन्होंने कहा आपको डरने की जरूरत नहीं है। उन्होंने मुझसे कहा कि आप शांत रहें। फिर उन्होंने मुझे कहा कि आपको कभी भी डरने की जरूरत नहीं है। मैं आपके साथ हूं। यही नहीं अमिताभ ने बताया कि कुली के दौरान हुई दुर्घटना के वक्त भी वह सबसे पहले आये। अमिताभ ने कहा कि उस दिन मैं तुरंत बैंगलुरु से मुंबई आया था।काफी बारिश हो रही थी और उस दिन कोई भी एम्बुलेंस काम नहीं कर रही थी, तो उस वक़्त बाला साहेब ने ही मुझे शिव सेना की एम्बुलेंस भिजवाई थी। जया से शादी के बाद भी मुझे और जया को उन्होंने घर पर न्यौता दिया था। अमिताभ ने यह भी कहा कि जब वर्ष 2012 में उनका देहांत हुआ था वह अमिताभ के लिए काफी दुखभरा था, क्योंकि उन्होंने कभी भी बाला साहेब को बेड पर नहीं देखा था। अमिताभ ने बताया कि जब मैंने देखा कि वह बीमार हैं और उनके रूम में गया तो उनकी बेड के बगल में उन्होंने मेरी तस्वीर अपने साथ फ्रेम में लगा रखी थी वह बात मुझे काफी टच कर गई थी। मेरे लिए उन्हें उस पीड़ा में देखना असहनीय था। वो मेरे पिता समान थे।

Close Menu