xiaomi to bring ipo for gathering 10 billion dollar from market

विश्व की प्रमुख स्मार्टफोन कंपनियों में शामिल शाओमी जल्द ही आईपीओ लेकर मार्केट से पैसे जुटाएगी। गुरुवार को कंपनी ने इसके लिए हांगकांग में आवेदन जमा किया है। आईपीओ का साइज नहीं बताया गया है, लेकिन सूत्रों के मुताबिक कंपनी 10 अरब डॉलर (66,000 करोड़ रुपये) जुटाएगी। इसके बाद कंपनी की वैल्यू 100 अरब डॉलर (6.6 लाख करोड़ रुपये) हो जाएगी।

अलीबाबा के बाद सबसे बड़ा आईपीओ
2014 में अलीबाबा के 21.77 अरब डॉलर (1.43 लाख करोड़ रुपये) के आईपीओ के बाद यह सबसे बड़ा इश्यू होगा। आईपीओ जून में आएगा। अभी प्राइस बैंड तय नहीं किया गया है। कंपनी ने रेगुलेटरी फाइलिंग में बताया कि वह आईपीओ से जुटाए पैसे का इस्तेमाल आरएंडडी और विदेश में बिजनेस बढ़ाने में करेगी। खासकर एआई और आईओटी जैसी टेक्नोलॉजी पर इसका फोकस रहेगा।

बन जाएगी चीन की तीसरी सबसे बड़ी टेक्नोलॉजी कंपनी 
शाओमी 8 साल पुरानी कंपनी है। आईपीओ के बाद यह टेंसेंट होल्डिंग्स और अलीबाबा के बाद चीन की तीसरी सबसे बड़ी टेक्नोलॉजी कंपनी बन जाएगी। कंपनी ने कहा है कि उसकी 2017 में आय 67.5 फीसदी बढ़ी। कंपनी को 2017 में 1.18 लाख करोड़ की आय हुई थी। हालांकि 2017 में कंपनी को 45.5 हजार करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। शायोमी के फोन भारत में भी बहुत लोकप्रिय हैं।कंपनी के को फाउंडर और सीईओ लेई जुन हैं। वो अब विकसित बाजारों में उतरने की योजना बना रहे हैं। कंपनी पिछले साल स्पेन के बाजार में उतरी थी। अब शायोमी अमेरिका में भी उतरने की योजना बना रही है। कंपनी कई विकसित देशों में सस्सते फोन बेचकर सैमसंग और एपल को टक्कर दे रही है।

60% फायदा इंटरनेट बेस्ड सर्विस से 
2017 में कंपनी को 60% लाभ इंटरनेट आधारित सेवाओं से हुआ। स्मार्टफोन बिजनेस से फायदा 8.8% था। एप्पल को 60% मुनाफा आईफोन एक्स और आईफोन 8 से मिला था।

31% मार्केट शेयर के साथ भारत में सबसे आगे 
कांउटरपॉइंट के मुताबिक 2018 की पहली तिमाही में 51% ग्रोथ के साथ कंपनी चीन में शीर्ष 5 में है। 31.1% मार्केट शेयर के साथ भारतीय स्मार्टफोन बाजार में सबसे आगे है।

Close Menu