राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि वो उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन को अमरीका आने का न्योता दे सकते हैं.

ट्रंप ने कहा कि अगर 12 जून को सिंगापुर में उनकी किम जोंग के साथ मुलाक़ात ठीक रही तो वो इस बारे में विचार कर सकते हैं.

जापान के प्रधानमंत्री शिंज़ो आबे से 12 जून को होने वाले सम्मेलन के बारे में चर्चा के बाद ट्रंप ने ये टिप्पणी की.

ट्रंप ने कहा कि कोरियाई युद्ध को खत्म करने को लेकर समझौता संभव है. उन्होंने कहा, "उसके बाद क्या होता है, ये वाकई बहुत अहमियत रखता है."

अमरीका और उसके क्षेत्रीय सहयोगी चाहते हैं कि उत्तर कोरिया अपना परमाणु कार्यक्रम छोड़ दे, लेकिन ट्रंप ने माना कि सिर्फ़ एक बैठक में ही लक्ष्य हासिल नहीं हो सकता और इसमें लंबा समय लग सकता है.

आबे ने कहा कि वो कई जापानियों को बंधक बनाए जाने के मामले में "उत्तर कोरिया से आमने-सामने बात करना" चाहेंगे.

उत्तर कोरिया ने 1970 और 1980 के दशक में कई जापानियों का अपहरण कर लिया था. इसका मकसद उत्तर कोरिया के जासूसों को जापानी भाषा और रीति-रिवाजों की ट्रेनिंग देना था.

हालाँकि उत्तर कोरिया ने 13 जापानियों के अपहरण की बात मानी है, लेकिन असलियत में ये आंकड़ा कहीं अधिक माना जाता है.

जापानी प्रधानमंत्री ने संवाददाताओं से कहा कि अगर उत्तर कोरिया सही दिशा में कदम उठाना चाहता है तो उसका भविष्य उज्ज्वल है.

Close Menu