अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आयात शुल्क लगाए जाने के फैसले की आलोचनाओं को लेकर भारत पर कटाक्ष किया है. इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि ज्यादातर देशों ने अमेरिकी को 'पिगी बैंक' यानी गुल्लक समझ रखा है.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, कनाडा में आयोजित G-7 समिट से ट्रंप बेहद तल्खी के साथ रुखसत हुए. इस दौरान उन्होंने अमेरिका के साथ 'नाइंसाफी करने वाले देशों' के साथ व्यापार बंद करने की चेतावनी देते हुए कहा, 'यह बस जी-7 ही नहीं है. मेरा मतलब है कि हमारे सामने भारत है, जहां कुछ चीज़ों पर 100 फीसदी आयात शुल्क है. पूरे सौ फीसदी... और हम कुछ नहीं बदलते. हम ऐसा नहीं कर सकते हैं.'

कनाडा के क्यूबेक में हुई दो दिनों की G-7 समिट से निर्धारित कार्यक्रम से पहले ही वापस लौट गए ट्रंप ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'हम मानो पिगी बैंक बन गए हों, जिसे हर कोई लूट रहा है.'


इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'आप ऐसा नहीं कर सकते. हम कई देशों के साथ बातचीत कर रहे हैं, हम सभी देशों से बात कर रहे हैं. और यह रुक जाएगा या फिर हम उनके साथ कारोबार बंद कर देंगे. और यही सबसे फायदेमंद जवाब होगा.'

बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप ने इस साल की शुरुआत में हार्ले-डेविडसन पर भारत में 100% आयात शुल्क लगाए जाने की आलोचना की थी और अमेरिकी में आयात होने वाले 'हजारों-हजार' भारतीय मोटरसाइकिलों पर आयात शुल्क बढ़ाने की धमकी दी थी.

ट्रंप ने कहा था कि आयात शुल्क 75% से घटाकर 50% करने का भारत सरकार का फैसला काफी नहीं है. अमेरिका मोटरसाइकिलों पर कोई आयात शुल्क नहीं लगाता, ऐसे में भारत को भी आयात शुल्क घटाकर 0% करना चाहिए.

Related Post

Close Menu