रमज़ान महीने के आख़िर में सीज़फ़ायर ख़त्म होने के बाद कश्मीर घाटी में स्थानीय युवाओं के चरमपंथी संगठनों में शामिल होने की घटनाएं बढ़ी हैं.

जम्मू-कश्मीर के मल्टी-एजेंसी सेंटर के आंकड़ों के मुताबिक जून महीने में कश्मीर के 27 युवक चरमपंथी संगठनों और गतिविधियों में शामिल हुए.

इनमें से ज़्यादातार युवक शोपियां, पुलवामा, अनंतनाग और कुलगाम जैसे ज़िलों से हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट में इन आंकड़ों से हवाले से बताया गया है कि इस साल कुल 82 कश्मीरी नौजवान चरमपंथी संगठनों में शामिल हुए.

इनमें 38 हिज़्बुल मुजाहिदीन, 18 लश्कर-ए-तैयबा और 19 जैश-ए-मोहम्मद में भर्ती हुए.

Related Post

Close Menu