चंडीगढ़, पंजाब कैबिनेट के मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने अपने खिलाफ लगे भ्रष्टाचार और धनशोधन के आरोपों के बाद कांग्रेस सरकार में अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। वह राज्य में मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के मंत्रिमंडल में बिजली एवं सिंचाई मंत्री हैं।

सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने अभी उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है।

राज्य में करोड़ों रुपयों की रेत खनन नीलामी में अनियमितता की वजह से बीते कुछ महीनों से बिजली एवं सिंचाई मंत्री राणा गुरजीत विवादों में घिरे हैं।

राणा गुरजीत और उनके बेटे को हाल ही में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने धन शोधन मामले में समन भी जारी किया था।

शराब और चीनी उत्पादन के कारोबार से जुड़े राणा गुरजीत को मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का करीबी माना जाता है।

Close Menu