सोमवती अमावस्या के मौके पर आज उत्तराखंड के हरिद्वार, ऋषिकेश व अन्य क्षेत्रों में गंगा घाटों पर बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ी, लोगों ने गंगा घाट पर मंदिरों में पूजा की ।

हरिद्वार में हरकी पैड़ी के साथ ही अन्य गंगा घाटों में श्रद्धालुओं के गंगा स्नान का सिलसिला शुरू हो गया। सोमवती अमावस्या के स्नान के लिए आज सुबह से ही श्रद्धालुओं की भारी भीड़ गंगा घाट पर जुटने लगी। हर की पैड़ी घाट के अलावा हरिद्वार के अलकनंदा घाट, प्रेम नगर आश्रम घाट, सर्वानंद घाट, मालवीय घाट, बिरला घाट और कुशावर्त घाट जैसे स्थानों पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ दिखी।

हरिद्वार के साथ-साथ ऋषिकेश में भी सोमवती अमावस्या के मौके पर लोगों ने गंगा में डुबकी लगाई। ऋषिकेश में परमार्थ निकेतन घाट और त्रिवेणी घाट पर लोगों ने गंगा स्नान किया। देवप्रयाग में भी अलकनंदा और भागीरथी संगम पर लोगों ने स्नान, दान कर मंदिरों में पूजा की।

इस वर्ष सोमवती अमावस्या क्यों है खास –

हिंदू धर्म में सोमवती अमावस्या  का विशेष महत्व माना गया है। इस दिन गंगा स्नान और दान करने से लोगों के घर सुख-शांति बनी रहती है। इस बार यह अमावस्या सोमवार के दिन पड़ी है, ऐसा संयोग कई वर्षों बाद हुआ है कि सोमवती अमावस्या सोमवार के दिन हो। इस लोक पर्व को लेकर ऐसी मान्यता है कि इस दिन स्नान करने तक कोई मौन रहता है तो उसे शुभ फल प्राप्ति होती है। महिलाएं खास तौर पर इस दिन अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती हैं।
Close Menu