अब कोई भी मंत्री या अधिकारी एसपीजी की अनुमति के बिना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास नहीं जा सकेगा. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, गृह मंत्रालय ने प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर नई एडवाइज़री जारी की है, जिसमें पीएम मोदी पर 'अब तक के सबसे बड़े खतरे' की आशंका जताई गई है.

गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों के पुलिस प्रमुख को चिट्ठी लिखकर इस 'अज्ञात खतरे' को लेकर अलर्ट रहने का निर्देश दिया है. सूत्रों के अनुसार, नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल ने पीएम मोदी की सुरक्षा में लगी विभिन्न एजेंसियों को सचेत किया है कि 'साल 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले पीएम मोदी पर हमले का गंभीर खतरा है.'

सूत्रों के मुताबिक, राज्यों के चुनाव और साल 2019 के आम चुनाव में सत्तारूढ़ दल के मुख्य इलेक्शन कैंपेनर पीएम मोदी को सलाह दी गई है कि वह अपने रोड शो में कटौती करें.

उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार, इन रोड-शोज़ के दौरान किसी को भी प्रधानमंत्री के करीब आने की अनुमति नहीं होगी. इस मूल नियम का कड़ाई से पालन किया जाएगा. पीएम मोदी की सुरक्षा में लगे एसपीजी अधिकारी इस दौरान मंत्रियों और अधिकारियों को भी पूरी जांच के बाद ही पास जाने की इजाजत देंगे. पीएम मोदी अपने कार्यक्रमों में जिस तरह आम लोगों से मिलते हैं, उसे लेकर भी खुफिया सूत्रों ने सचेत किया है. गृह मंत्रालय का मानना है कि भविष्य में आम लोगों से इस तरह की मेलजोल को और कम किया जाना चाहिए.

Related Post

Close Menu