अजमेर। लम्बित वेतनमान लागू नही करने से नाराज अजमेर सेन्ट्ल काॅपरेटिव बैंक के अधिकारियो और कर्मचारियो ने गुरूवार को काली पट्टी बांधकर कार्य किया।

कर्मचारी नेता मुकेश शर्मा ने बताया कि 53 माह से लम्बित मांगो एवं समस्याओ सहकारी साख व्यवस्था के हालात एवं सरकार व सहकारिता और बैंक प्रशासन की रीति नीति किसानो के ऋण माफी योजना कर्मचारी विरोधी नीति है। उन्होने बताया कि वर्तमान में लागू 14वे वेतन समझौते की पांच वर्षीय अवधि 2013 में समाप्त होने के कारण के बाद 15 वेतन समझौता जनवरी 2014 से देने पर सहमति भी बन चुकी है, लेकिन सरकार खुद इसकी पालना करने मे रूचि नही ले नही है, जिसके कारण हमने यह आंदोलन कर रहे है। 18 जून को बैंक के प्रधान कार्यालय के बाहर धरना दिया जायेगा।

Close Menu