अजमेर। समाज में बच्चों को अच्छे संस्कार देकर उत्कृष्ट समाज बनाने की आज आवश्यकता है जैसे धूल पानी से मिलकर कीचड़ बन जाती है और वही धूल हवा के साथ मिलकर आकाश की यात्रा कर लेती है उसी प्रकार बच्चों में दिए गए अच्छे संस्कार देश और समाज को प्रतिष्ठा दिला सकते हैं। बच्चों को योग, स्वाध्याय एवं संस्कारों द्वारा संस्कारित करने का काम विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी बखूबी कर रहा है। उक्त विचार महापौर धर्मेंद्र गहलोत ने विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी की स्थानीय शाखा द्वारा आयोजित किए जा रहे पांच दिवसीय संस्कार वर्ग प्रशिक्षण शिविर के उद्घाटन के अवसर पर मुख्य अतिथि के रुप में बोलते हुए कहे। उन्होंने कहा कि जाग्रत और उन्नत समाज बनाने के लिए बच्चों में अच्छे संस्कारों का निरूपण आवश्यक है। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि के रुप में विद्या भारती चित्तौड़ प्रांत के अध्यक्ष रामप्रकाश बंसल ने कहा कि आज जब बच्चे इस भीषण गर्मी में नैतिक और संस्कार मूल्य शिक्षा को प्राप्त करने के लिए एकत्रित हुए हैं तो इससे लगता है कि समाज में आज भी संस्कारों के प्रति कितनी जागरूकता है। उन्होंने कहा यह बच्चों के लिए तप का समय है। उन्होंने बच्चों का आव्हान करते हुए कहा कि इस संस्कार प्रशिक्षण शिविर में पूर्ण मनोयोग से सभी विधाओं को सीखें।
इस अवसर पर जानकारी देते हुए शिविर अधिकारी नितिन गोयल ने बताया कि शिविर में बच्चों को प्रातः काल 5.30 बजे प्रातः स्मरण के अभ्यास के साथ गीता पठन, योगाभ्यास, श्रम संस्कार, बौद्धिक सत्र, मंथन सत्र, गीत अभ्यास, रचनात्मक सत्र, खेल सत्र, भजन संध्या एवं रात्रि में प्रेरणा से पुनरुत्थान सत्रों के साथ शारीरिक मानसिक बौद्धिक भावनात्मक एवं आध्यात्मिक विकास के लिए कार्य किया जा रहा है। शिविर में बच्चों में अध्ययन के प्रति रुचि पैदा करने के लिए परीक्षा दें हंसते हंसते तथा वैदिक गणित की विशेष कक्षाएं लगाई जा रही हैं।
इस शिविर में प्रांत संगठन प्रांजलि येरिकर, प्रान्त प्रशिक्षण प्रमुख डॉ स्वतंत्र शर्मा, विभाग सहसंचालक कुसुम गौतम, नगर प्रमुख रविंद्र जैन, सह नगर प्रमुख अखिल शर्मा, योग वर्ग प्रमुख अंकुर प्रजापति सहित विवेकानंद केंद्र की पूरी टीम कार्य कर रही है। शिविर प्रमुख लाजवंती के अनुसार शिविर में अजमेर, नसीराबाद, किशनगढ़ एवं ब्यावर के 170 शिविरार्थी प्रशिक्षण ले रहे हैं। उद्घाटन कार्यक्रम की अध्यक्षता साहित्यकार उमेश कुमार चैरसिया ने की।
उद्घाटन सत्र के तुरंत बाद प्रथम सत्र का आयोजन किया गया जिसमें केंद्रीय विश्वविद्यालय अजमेर के योग विभाग के शिक्षक महबूब हुसैन अपने व्यक्तित्व विकास की भारतीय संस्कृति से जुड़े हुए आयामों पर अपना प्रस्तुतीकरण दिया शिविर अधिकारी नितिन गोयल ने बताया कि शिविर का समापन 27 मई को प्रातः 11 बजे किया जाएगा जिसमें मुख्य अतिथि महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय अजमेर के कुलपति प्रोफेसर विजय तथा विशिष्ट अतिथि जवाहरलाल नेहरु चिकित्सालय अजमेर के विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ महेंद्र जैन होंगे।

(अखिल शर्मा)
सहनगरप्रमुख
9414008765

कृपया उक्त समाचार आपके सम्माननीय दैनिक समाचारपत्र के अजमेर संस्करण में जनहित में प्रकाशित करने की कृपाकरें। धन्यवाद

Close Menu