अजमेर. जोधपुर में पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा को लेकर कोचिंग सेंटर पर रचे जा रहे षड्यंत्र का भंडाभोड़ होने के बाद जिला पुलिस भी मुस्तैद हो गई है। पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र सिंह ने जिले के 50 से ज्यादा चालानशुदा 'मुन्ना भाइयोंÓ पर निगरानी रखने के आदेश दिए है। ये पूर्व में भर्ती परीक्षाओं में नकल करते या नकल कराने के मामले में पकड़े गए थे। वहीं पुलिस ने कोचिंग सेंटर के संचालक, उनके शिक्षक और परीक्षा केन्द्रों पर ड्यूटी देने वाले शिक्षकों का ब्ल्यू प्रिंट तैयार किया है।

एसपी राजेन्द्र सिंह ने बुधवार दोपहर पुलिस लाइन सभाकक्ष में 14 व 15 जुलाई को होने वाली कांस्टेबल भर्ती परीक्षा को लेकर पुलिस अधिकारियों, परीक्षा केन्द्र अधीक्षक, थानाप्रभारी और साइबर सेल एक्सपर्ट की बैठक ली। उन्होंने परीक्षा केन्द्र प्रभारियों को भर्ती परीक्षा में रखी जाने वाली सावधानियों पर विस्तार से चर्चा की। केन्द्र अधीक्षक को परीक्षा केन्द्र पर ड्यूटी देने वाले प्राइवेट शिक्षकों का वेरिफिकेशन करवाने के लिए पाबंद किया। यह कार्य गुरुवार शाम तक संबंधित वृत्ताधिकारी व थानाप्रभारी की देखरेख में होगा। वहीं उन्होंने थानाप्रभारियों को अपने-अपने क्षेत्र में मुस्तैद रहने और परीक्षा से जुड़ी तमाम सूचनाओं पर नजर रखने की हिदायत दी गई।

चालानशुदा को करेंगे पाबंद

एसपी सिंह ने जिले में पूर्व में भर्ती परीक्षाओं में पकड़े गए चालानशुदा अभ्यर्थियों व युवकों को कड़ी निगरानी व जरूरत पडऩे पर पाबंद की कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

कोचिंग सेंटर्स पर कड़ी नजर
जोधपुर की घटना के बाद जिला पुलिस की भी अजमेर, किशनगढ़, ब्यावर व केकड़ी में संचालित कोचिंग सेंटर पर कड़ी नजर है। पुलिस ने थानाप्रभारियों के जरिए जिलेभर में संचालित कोचिंग सेंटर संचालक, पढ़ाने वाले शिक्षक का डेटाबेस तैयार किया, ताकि जरूरत पडऩे पर त्वरित कार्रवाई की जा सके।

जैमर से होगा जाम

पुलिस ने परीक्षा केन्द्र पर ब्ल्यू टुथ, मोबाइल के प्रयास पर अंकुश लगाने के लिए जैमर का इंतजाम किया है। परीक्षा केन्द्र का प्रत्येक कमरा जैमर और सीसीटीवी कैमरे की नजर में होगा। इधर जिला पुलिस की साइक्लोन टीम को भी पुलिस भर्ती परीक्षा को लेकर अलर्ट किया है। वहीं सोशल मीडिया पर साइक्लोन टीम नजर गड़ाए हुए है।

Related Post

Close Menu