अजमेर। भूमि के बदले भूमि मामले मे करीब डेढ साल की फरारी के बाद आज नरेन शाहनी भगत ने जिला न्यायालय में आत्मसपंर्ण कर दिया है।
जानकारी के मुताबिक यूआईटी के पूर्व चेयरमैन नरेन शाहनी भगत ने करीब डेढ साल की फरारी के बाद आज डीजे कोर्ट में सरैंन्डर किया। अब यह देखना है कि उन्हे न्यायालय भेज भेगा या फिर उन्हे जमानत मिल पाती है।
 लैन्ड फार लैन्ड के मामले में अजमत खान ने उन पर दो प्लाट और 12 लाख की रिश्वत मांगने का आरोप लगाया था। एसीबी को बहुत थकाने के बाद आखिरकार अदालत में सरेंडर करना ही पडा। शाहनी को 19 जून 2013 को मामला दर्ज हुआ था और 23 मई 2017 को एसीबी ने चालान पेश किया था, तब से शाहनी फरार थे। कोर्ट ने उन्हें गिरफ्तार करने के आदेश दिये थे। आज एसीबी जज साहब अवकाश पर हैं और चार्ज डीजे कोर्ट के पास है।
  परिवादी अजमत ने बताया कि एसीबी ने शाहनी को पूर्व धारा 41 के तहत नोटिस दिया था, लेकिन वह सरेंडर नही हुआ ओर फरार हो गया था आज कोर्ट में पेश  हुये है।
Close Menu