अजमेर। ब्यावर रोड अजमेर एवं कायड अजमेर में जायरीनों के ठहरने हेतु पर्याप्त बडी-बडी विश्राम स्थलीयों के बावजूद अजमेर विकास प्राधीकरण द्वारा अजमेर के निवासियों की शान्ति भंग करने का षडयंत्र रचा जा रहा है।

अजमेर शहर की प्रमुख आवासीय काॅलोनीयां कोटडा आवासीय, हरिभाऊ उपाध्याय, पत्रकार काॅलोनी, महाराणा प्रताप, ज्ञान विहार, राम नगर, पुष्कर रोड के निकट नई विश्राम स्थली का निर्माण हेतु तेलंगाना सरकार से समझौता कर लिया है तथा तेलंगाना हाऊस (रूबात) का निर्माण करवाया जा रहा है।

जिसके विरोध मे आज षिव सेना ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम जिलाधीष को ज्ञापन सौंपा कर विरोध जताया और षिव सेना ने उक्त भूमि के आवंटन को रद्द करवाने की मांग की है।

षिव सेना के प्रदेष सचिव मुन्ना लाल शर्मा ने कहा कि शान्तिपूर्ण निवास कर रहे हजारों लोगों को उनके बीच जायरीनों के आने-जाने, ठहरने विश्राम स्थली आदि का निर्माण जोर-शोर से करने पर आमदा हो रहे हैं।

5-6 बीघा जमीन भी चिन्हीत कर ली है, जबकि शहर के मास्टर प्लान योजना को दरकिनार कर ए.डी.ए. अपनी मनमर्जी का निर्माण अजमेर की जनता पर थोपने पर आमदा हो रहे हैं जो कि आम जनता के साथ धोखा है, छलावा है, विधी विरूद्ध है गैर कानूनी है।

शर्मा ने कहा कि शीघ्र ही तेलंगाना के मुख्यमंत्री 1500 व्यक्तियों को लेकर अजमेर पहुंच रहे हैं। जिसका हम विरोध करते हैं तथा अजमेर कीजनता का सुख-चैन छीन लेने की ए.डी.ए. की षडयंत्र कारी योजनाओं को कभी कामयाब नहीं होने दिया जायेगा। इसके लिये शिव सेना व स्थानीय निवासीगण द्वारा आन्दोलन भी करना पडा तो करेंगे।

Related Post

Close Menu