विरोध के रूप में भीख मांग रहे व्यापारियों ने जेडीए पर आरोप लगाया कि घर और दुकान को तोड़ देने के बाद अभी तक सही से पुनर्वास का काम नहीं किया गया। व्यापारियों ने कहा कि पुनर्वास के साथ-साथ उनका उचित मुआवजा भी नहीं लौटाया गया। अब वो व्यापारी से भिखारी हो गए हैं इसलिए सड़क पर भीख मांग रहे हैं।
Close Menu