जयपुर, -मिड-डे मील योजनान्तर्गत ‘अन्नपूर्णा दूध योजना’ में राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों को पंचायत क्षेत्र में पंजीकृत महिला दुग्ध समितियों एवं महिला स्वयं सहायता समूह के माध्यम से तथा शहरी क्षेत्रों में सरस डेयरी बूथ के माध्यम से 2 जुलाई से उच्च गुणवत्तापूर्ण पाश्च्यूरीकृत टोंड दूध उपलब्ध कराया जाएगा।

शिक्षा राज्य मंत्री श्री वासुदेव देवनानी ने बताया कि राज्य के प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं के पोषण स्तर में वृद्धि करने तथा उन्हें आवश्यक मेक्रो एवं माइक्रो न्यूट्रिएन्टस उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार ने यह महत्ती पहल की है। इसके अंतर्गत प्राथमिक कक्षा के एक से 5 तक के विद्यार्थियों को 150 एमएल तथा उच्च प्राथमिक कक्षा 6 से 8 तक के विद्यार्थियों को 200 एमएल प्रति छात्र प्रतिदिन सप्ताह में दिन बार गर्म ताजा दूध उपलब्ध कराया जाएगा। विद्यालयों में प्रार्थना सभा के तुरंत पश्चात विद्यार्थियों को दूध दिया जाएगा।

‘अन्नपूर्णा दूध योजना’ के अंतर्गत विद्यार्थियाें को दूध उपलब्ध कराने के लिए विद्यालय प्रबंध समिति द्वारा आवश्यक बर्तनों के क्रय करने की व्यवस्था की गयी है। विद्यालय प्रबंधन समिति यह भी सुनिश्चित करेगी कि निर्धारित रोस्टर के अनुरूप निर्धारित दिवसों पर छात्रों को उच्च गुणवत्तापूर्ण ताजा गर्म दूध उपलब्ध हो।

Close Menu